अगर आगे बढ़ना है तो कुछ कर पीछे छोड़ दे सारी दुनिया

एक बार की बात है एक छोटे से गांव में एक गुफा थी जहां हर व्यक्ति जाने से डरता था क्योंकि आज तक जो भी व्यक्ति इस गुफा के अंदर गया था मैं कभी लौट कर वापस नहीं आया था करीब 300 या 300 के आसपास व्यक्ति  उस गुफा में गए थे जो कभी लौट कर वापस नहीं आएं गांव वाले उस गुफा से काफी डरते थे एक बार उस गांव में एक नवयुवक व्यक्ति  आया और जब उसको इस बात का पता चला कि कोई भी व्यक्ति उस गुफा में जाता है या उसके आसपास जाता है तो वह लौट कर वापस नहीं आता तो उसे इस बात पर यकीन नहीं हुआ उसने सोचा कि ऐसे मॉर्डन जमाने में ऐसा कैसे हो सकता है उस व्यक्ति ने एक दिन सोचा की मुझे इस बात का पता लगाना ही होगा और उसने सारे गांव वालों को बताया और सारे गांव वाले इकट्ठा हुए पर उस व्यक्ति से कहने लगी कि यदि तुम उस गुफा में जाओगे तो कभी लौट कर वापस नहीं आओगे 300 से अधिक व्यक्ति इस गुफा में जाएं और कभी लौट कर वापस नहीं आए तुम भी उस गुफा में  मत जाओ हो सकता है तुम्हारा भी वही हाल हो जो उन व्यक्तियों का हुआ था और उसे सभी गांव वाले डराने लगे
               लेकिन वह व्यक्ति बहुत ही सकारात्मक सोच का था उसने सोचा कि चाहे कुछ भी हो मैं इस गुफा में जाकर रहूंगा और देखूंगा कि इसमें होता क्या है वह व्यक्ति गुफा की ओर चलने लगा जैसे-जैसे वह व्यक्ति उस गुफा के आसपास पहुंचा तो थोड़ा थोड़ा डर उसे भी लगने लगा था लेकिन वह रुका नहीं वह आगे बढ़ता गया जब बह उस गुफा में पहुंचा तो उसने देखा कि वहां बहुत अंधेरा था उसे थोड़ा डर और लगा लेकिन मैं रूका नहीं आगे की ओर चलने लगा जैसे जैसे वह आगे बढ़ने लगा उसे लगा कि कोई उसका पीछा कर रहा है और जैसे ही अंधेरा बड़ा उसे पीछे से बहुत जोर से धक्का लगा और वह आगे की ओर गिरा और बेहोश हो गया जैसे ही उसकी आंखें खुली तो उसने देखा कि चारों और समृद्धि की चीजें छाई हुई है धन दौलत खुशहाली की सारी चीजें जो भी लगती है वह उपलब्ध है उसे देखकर वह आश्चर्यचकित रह गया उसके चारों और कुछ लोग खड़े थे और वह वही लोग के जो गांव से उससे पहले आए थे तब उस व्यक्ति ने उनसे पूछा कि क्या हुआ मैं यहां कैसे आया तब उन व्यक्तियों से बताया कि जब हम भी यहां पहली बार आए थे तो हम इस समृद्धि को देखकर यहीं पर रुक गए थे
         लेकिन हम यहां किसी को आने नहीं देते क्योंकि यहां लोगों की भीड़ बढ़ गई तो बहुत ही परेशानी हो जाएगी और जो भी व्यक्ति इस गुफा के अंदर आता पहले हम उसे डराने की कोशिश करते अगर वह नहीं डरता तो फिर हम उसे खींचकर अंदर की ओर ले आते हमने तो मैं भी डराने की कोशिश करी लेकिन तुम निडर थे और हम तुम्हें खींचकर यहां ले आए अब तुम भी हमारे साथ अच्छे से अपनी जिंदगी को जियो

जी हां दोस्तों जब भी कुछ हम अपनी जिंदगी में कुछ अच्छा करना चाहती हैं या फिर कुछ बड़ा करने की कोशिश करते हैं तो उन्हीं गांव वालों की तरह कुछ लोग हमारी जिंदगी में आ जाते हैं जो हमें बहुत डराते हैं और हमें अपने लक्ष्य को हासिल करने से रोकते हैं लेकिन हमें उन सब की बातें ना सुनते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करना चाहिए क्योंकि जीत उन्हीं की होती है जिनके हौसलों में जान होती है इसी के साथ जय हिंद !!
अगर आगे बढ़ना है तो कुछ कर पीछे छोड़ दे सारी दुनिया अगर आगे बढ़ना है तो कुछ कर पीछे छोड़ दे सारी दुनिया Reviewed by Shashi kumar on August 01, 2018 Rating: 5

No comments:

आपको हमारा कंटेंट कैसा लगा कृपया अपनी राय जरुर दें क्योंकि हम आपकी राय का सम्मान करते हैं धन्यवाद

Recent Comments

ads
Powered by Blogger.