अगर आप परेशान हैं तो एक बार इसे जरूर पढ़ें शायद आपकी जिंदगी बदल जाए


आज बादलों ने फिर साजिश की जहां मेरा घर था वही बारिश की अगर फलक को जिद है बिजलियां गिराने की तो हमें भी जिद है वहीं आशियां बसाने की

अभी तो असली मंजिल पाना बाकी है
अभी तो इरादों का इम्तिहान बाकी है 
अभी तोली है मुट्ठी भर जमीन
अभी तो तौलना आसमान बाकी है

ना पूछो कि मेरी मंजिल कहां है 
अभी तो सफ़र का इरादा किया है
नहा लूंगा हौसला उम्र भर 
यह मैंने किसी से नहीं खुद से वादा किया है

जिंदगी में कभी उदास ना होना 
कभी किसी बात पर निराश ना होना
यह जिंदगी एक संघर्ष है चलती ही रहेगी
 कभी अपने जीने का अंदाज ना खोना

निगाहों में मंज़िल थी गिरे और गिर कर संभलते रहे
हवाओं ने कोशिश बहुत की 
लेकिन चिराग आंधियों में भी जलते रहे

कोशिश के बावजूद हो जाती है अगर हार 
कभी निराश होकर मत बैठना मेरे यार
बढ़ते रहना आगे हो जैसा भी मौसम
पा लेती है मंजिल चींटी भी 
गिर-गिर कर कई बार

परिंदों को मंजिल मिलेगी यकीनन 
यह फैले हुए उनके पर बोलते हैं
अक्सर वो लोग खामोश रहते हैं जमाने में 
जमाने में जिनके हुनर बोलते हैं

सामने हो मंजिल तो रास्ते मत मोड़ना
जो भी मन में हो वह सपने मत तोड़ना
कदम कदम पर मिलेगी मुश्किल आपको 
बस सितारे छूने के लिए जमीन मत छोड़ना

हवाओं से कह दो कि अपनी औकात में रहे 
हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं

नजरों को बदलो नज़ारे बदल जाते हैं
सोच को बदलो सितारे बदल जाते हैं
कश्तियों को बदलने की जरूरत नहीं
दिशा को बदलो किनारे खुद ब खुद बदल जाते हैं
अगर आप परेशान हैं तो एक बार इसे जरूर पढ़ें शायद आपकी जिंदगी बदल जाए अगर आप परेशान हैं तो एक बार इसे जरूर पढ़ें शायद आपकी जिंदगी बदल जाए Reviewed by Raaj kumar on August 02, 2018 Rating: 5

No comments:

आपको हमारा कंटेंट कैसा लगा कृपया अपनी राय जरुर दें क्योंकि हम आपकी राय का सम्मान करते हैं धन्यवाद

Recent Comments

ads
Powered by Blogger.