कैसे छोड़े अपनी छाप ? अपनी पहचान कैसे बनाएं ?

क्सर आप किसी प्रतिभाशाली व्यक्तित्व को देखकर उसके जैसा बनने की कोशिश करते हैं या अपने आसपास किसी जिंदादिल इंसान को देखकर आपके दिल में उन जैसा बनने की तमन्ना जाती है आप अक्षर सोचते हैं कि आखिर उसमें ऐसा क्या है जो वह सबकी पसंद है क्यों हर कोई इंसान उसे पसंद करता है ? हमें ऐसा क्या है जो हम उसके जैसे सबका दिल जीतने में कामयाब नहीं हो पाते यहां हम आपको बताते हैं कुछ ऐसी ही बातें जिससे आप भी दूसरों का दिल जीत सकते हैं या फिर उन पर अपनी गहरी छाप छोड़ सकते हैं

अपने प्रति वफादार बने

हमेशा अपने प्रति वफादार रहें या खुद से सच बोलें आप जो कर रहे हैं वह सही है या गलत बेशक दूसरे को कोई नहीं जानता मगर आप बेहतर तरीके से जानते हैं कि आप क्या कर रहे हैं अगर आप किसी से झूठ बोलते हैं तो भी आप जानते हैं कि आप ने झूठ बोला है अगर आप किसी से सच कहते हैं तो प्रमाणिकता के साथ कहें बेवजह दो लोगों में समस्याएं उत्पन्न करने के लिए कुछ भी ना कहें अपनी बात को तथ्यों के साथ पेश करें यदि आपको भविष्य में दोबारा अपनी बात दौरानी पड़े तो भी आप अपनी कही बात याद रखें अपनी बात से मुकरे नहीं जिंदगी में कम से कम खुद से तो जरूर सच बोलें

लोगों की परवाह करें

जिंदगी में अपने और अपनों के अलावा दूसरों की परवाह करना भी सीख जाएं यदि आप किसी की परवाह करेंगे तभी कोई आपकी परवाह करेगा लेकिन यदि आपको किसी की तकलीफ बीमारी या समस्या की कोई फिक्र नहीं है तो कोई और भी आपकी परवाह क्यों करेगा आप किसी की मदद करेंगे तो दूसरा भी हमेशा आपकी मदद करने को तैयार रहेंगे आप जितना प्यार और सहानुभूति बाटेंगे उससे कहीं ज्यादा प्यार आपको जिंदगी में मिलेगा इसलिए हमें दूसरों की भी परवाह करनी चाहिए क्योंकि आप भले तो जग भला.

दूसरों को खुश रखें

जिंदगी में आप चाहे कितने भी उदास या परेशान हूं लेकिन उसका साया आपके आसपास के लोगों पर नहीं पढ़ना चाहिए आपको हमेशा कोशिश करनी चाहिए कि आपके आसपास के लोग खुश रहें अगर वह परेशान भी हैं तो उनके लिए कुछ ऐसा जरूर करें जिससे उनके चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाए जीवन में आप किसी के लिए कुछ करते हैं तो शायद उसे लोग भूल जाते हैं लेकिन अगर आप आपने अपनी कोशिश से किसी को हंसाया हो, उसके जीवन में खुशियां बिखेरी हो तो लोग उसे कभी नहीं भूल पाते इसलिए हमेशा खुश मिजाज रहें और दूसरों को भी खुश रखें .

सत्यवादी ब ईमानदार बने

कोई भी किसी झूठे व्यक्ति को पसंद नहीं करता, चाहे सच कराता कितना भी मुश्किल हो लेकिन आखिर में सत्य की ही जीत होती है और एक न एक दिन झूठ की पोल खुल ही जाती है सच हमेशा अपना रास्ता खुद ही ढूंढ लेता है इसलिए आप ना तो झूठ का सहारा लें और ना ही अपने काम के प्रति गैर जिम्मेदार बने, अगर आप ने कुछ गलत भी किया है तो इमानदारी से सच को स्वीकार कर ले, और अगर आप सही हैं तो चुप रहो वक़्त खुद ब खुद आपकी गवाही दे देगा.
कैसे छोड़े अपनी छाप ? अपनी पहचान कैसे बनाएं ? कैसे छोड़े अपनी छाप  ? अपनी पहचान कैसे बनाएं ? Reviewed by Shashi Kumar on August 31, 2018 Rating: 5

No comments:

आपको हमारा कंटेंट कैसा लगा कृपया अपनी राय जरुर दें क्योंकि हम आपकी राय का सम्मान करते हैं धन्यवाद

Powered by Blogger.